Welcome to Katihar Online



Katihar Durga Puja Pandal 2017

दुर्गा पूजा पंडाल की 2017 की सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली पंडाल "यगशाला पूजा समिति, शिव मंदिर चौक, कटिहार" है| यगशाला पूजा समिति को ढेर सारी शुभकामनायें|

ऑनलाइन वोटिंग 2017 में भाग लेने के लिए सभी को बहुत बहुत धन्यवाद्| अगले साल हम फिर ले कर आयेंगे पूजा पंडाल वोटिंग सेवा|

क्रम स० पसंदीदा पंडाल पूजा समिति का नाम वोट% कुल प्राप्त वोट

1

यगशाला, शिव मंदिर चौक

32.20%

727

2
संग्राम संघ (कटिहार)
13.70%
309
3
LWC दुर्गापूजा समिति डेहरिया
13.40%
303
4 संघर्ष क्लब, चुना गली 11.40% 258
5 बनियाँ टोला परिवार 9.20% 208
6 श्री कृष्ण गोशाला समिति 5.10% 115
7 गोकुल धाम, अरगरा चौक 3.00% 67
8 रेलवे कॉलोनी, मनिहारी 2.70% 62
9 लीडर क्लब (पानी टंकी चौक) 2.70% 61
10 हवाई अड्डा पूजा समिति, कटिहार 1.70% 38
11 अमला टोला दुर्गापूजा कमिटी 1.40% 32
12 न्यू संघर्ष क्लब, कटिहार 1.20% 26
13 लड्कानियाँ टोला पूजा कमिटी 1.10% 24
14 जय माता दी (काली बाड़ी) 0.70% 15
15 सन ऑफ़ इंडिया 0.60% 13
Total 2258

Katihar Business or Institution Free Listing 2017

कटिहार ऑनलाइन

कटिहार ऑनलाइन मे आप का स्वागत है। यह वेबसाइट कटिहारवासियों के लिए तैयार किया गया है। हमारा उद्देश्य कटिहार को विश्वमंच पर विशिष्ठ स्थान दिलाना है। अपलोगो का स्नेह और प्रेम द्वारा हम अपने लक्ष्य मे सफ़ल होंगे। आपलोगो के लगातार आग्रह पर इस वेबसाइट को हिन्दी मे प्रस्तुत किया जा रहा है। कटिहार बिहार के ३८ जिलों में से एक है| यह पूर्णिया डिवीजन का एक अंग है|

कटिहार 02 अक्टूबर 1973 को पूर्णिया से विभाजित कर के एक पूर्ण जिला बना | कटिहार में चौधरी परिवार, जो कोसी क्षेत्र की सबसे बड़ी जमींदारों में से एक थे, का प्रभुत्व था| चौधरी परिवार के संस्थापक खान बहादुर मोहम्मद बख्श थे जिनके पास कटिहार जिले में लगभग 15,000 एकड़ जमीन एवं पूर्णिया में 8,500 एकड़ की भूमि थी|

कटिहार एक ऐतिहासिक जगह है और भारतीय इतिहास में जगह लेता है। यह कहा जाता है कि हिन्दू भगवान श्री कृष्ण यहां आयें थे। कटिहार पूर्णिया जिले का एक हिस्सा था| मुगल शासन के तहत सरकार ताजपुर महानंदा नदी के पूर्व एवं महानंदा नदी के पश्चिम सरकार पूर्णिया का गठन किया गया था| 12 वीं शताब्दी के आस पास बख्तियार खिलजी के आक्रमण के बाद ने बिहार मुस्लिम शासकों के अधीन आ गया| १३ वीं सदी में गयासुद्दीन इवाज ने अपनी सत्ता को बढ़ाते हुए लगभग पुरे बिहार पर अपनी हुकुमत स्थापित कर ली थी| सन १७७० में पूर्णिया ब्रिटिश शासन के अधीन आ गया और मोहम्मद अली खान पूर्णिया के गवर्नर बने| इस के बाद दक्रेल (Ducurrel) इस जिले का प्रथम अंग्रेज कलेक्टर प्रेवक्षक बना| 1872 में जिला राजस्व कलकत्ता बोर्ड को और कमिसन बनारस मंडल के नियंत्रण मे स्थानांतरित किया गया। ब्रिटिश शासन के प्रारंभिक वर्षों में काफी हद तक कानून और व्यवस्था की स्थापना की गयी थी। आगे पढ़ें »

Administrative Division Purnea
HeadquarterKatihar
Area3,056km2
Latitude & Longitude25.53° N 87.58° E
Population Density1004/km2(2600 /sq. mile)
Literacy53.56 percent
Sex ratio916
APL Family2,97,378 (up to Nov, 2012)
Lok Sabha Constituency11-Katihar)
Assembly Constituencies63-Katihar, 64-Kadwa, 65-Balrampur, 66-Pranpur, 67-Manihari, 68-Barari, 69-Korha
Sub-DivisionsBarsoi, Katihar, Manihari
BlocksAmdabad, Azamnagar, Balrampur, Barari, Barsoi, Dandkora, Falka, Hasanganj,Kadwa, Katihar, Korha, Kursela, Manihari, Mansahi, Pranpur, Sameli
Major HighwaysNH 31, NH 81

 



About us | Sitemap | Terms & Conditions | Privacy Policy | Disclaimer Policy | Refund & Cancellation Policy

Loading..
Online